गुलामी की निशानियां

दुनिया में कोई भी देश गुलामी की निशानियों को संजोकर नही रखता

  • सबसे बडा झूठ इतिहास मे डाला गया आर्य भारत में बाहर से आये थे | सारी दुनिया में शोध हो चुका है, डीएनए परीक्षण से सिद्ध हो गया कि आर्य भारत के मुल निवासी थे| फ़िर भी इतिहास में आज भी यह पढाया जाता है |
  • इतिहास मे भारतवासी गाय का मांस खाते थे आज भी वर्णित है जिसे नहीं हटाया | जिस देश में गौ रक्षा आंदोलन चले मंगल पांडे अँग्रेज मेजर ह्युस्टन को गोली गाय के चर्बी मिले कारतूस के कारण गोली मारी हो उस देश के लोग गाय का मांस कैसे खा सकते है |
  • भारतवासी गरीब अशिक्षित असभ्य सपेरो का देश पुरी दुनिया में बताया गया और आज भी बताया जाता है जबकि इसके विपरीत मैकाले ने 2 फ़रवरी 1835 में बिट्रिश संसद में भाषण दिया था कि मै भारत में पुर्व से पश्चिम उत्तर से दक्षिण घुमा मुझे भारत में कोई व्यक्ति गरीब नहीं मिला | यदि भारत के लोग गरीब नही मिला कोई बीमार भी नही मिला | यदि भारत के लोग गरीब थे तो अँग्रेज यहाँ क्यों आते |
  • इतिहास में महाराजा रणजीत सिंह को डाकू चन्द्रशेखर आजाद भगत सिंह बटकेश्वर दत्त को आज भी आतंकवादी पढाया जाए इस गुलामी को हटाना चाहिए |
  • हिन्दी को राष्ट्रभाषा घोषित नहीं किया जा सका जबकि महात्मा गाँधीजी की सार्वजनिक घोषणा थी कि आजादी मिलते ही सर्वप्रथम हिन्दी को राष्ट्रभाषा घोषित करवाउगा|