काला धन

300 लाख करोड़ रूपये का काला धन

► स्विस बैंक में भारत के बेइमान व भ्रष्ट लोग जो नाममात्र के है उनका 300 लाख करोड़ रूपये का काला धन जमा है|

► यदि 300 लाख करोड़ रूपये का काला धन भारत आ जाये तो भारत के 626 जिलों के विकास के लिए एक जिले को 50,000 करोड़ रुपये मिलेंगे|

► यदि यह पैसा (300 लाख करोड़ रुपये) भारत आ जाये एवं एक जिले में 500 गाँव है तो एक गाँव को विकास के लिए 100 करोड़ रुपये मिलेंगे| सोचिए एक गाँव का 100 करोड़ में कितना विकास हो सकता है|

► यह 300 लाख करोड़ रुपये भारत आ सकते है यदि देश की संसद कानून बनाकर राष्ट्र की संपति घोषित कर देवे| चूंकि काला धन अवैध रुप से कमाया गया है इस कारण उसे राष्ट्र की संपति घोषित कर जप्त की जा सकती है|

► अमेरिका ने स्विस बैंक में जमा अपने देश का काला धन वापस मँगवा लिया है| अमेरिका की बैंक लगातार दिवालिया हो रही थी तथा अर्थव्यवस्था उक्त काला धन वापस मँगवा कर ठीक किया है| बराक ओबामा के चुनावी मुद्दे में यह काला धन वापस लाने का भी मुद्दा था जो उन्होने पूरा किया|

► काले धन की जानकारी ट्रैन्सपेरन्सी इन्टरनेशनल टैक्स जस्टिस नेटवर्क आदि से प्राप्त हुई है| यह भी जानकारी प्राप्त हुई है कि स्विस बैंक में सबसे ज्यादा काला धन भारतीय भ्रष्ट लोगो का जमा है|

► स्विस बैंक के डायरेक्टर ने भी स्वीकार किया है कि भारतीयों का सबसे ज्यादा पैसा जमा है|

► 300 लाख करोड़ इक बार लिखकर तो देखें 300,00,0000,0000000/- एक आदमी के हिस्से 25 लाख रुपये|

► 300 लाख करोड़ रुपये का काला धन 100/- 200/- की रिश्वत की राशि से नहीं लूटी गई है| यह लूट प्राकृतिक संसाधन,बडी खरीदी आदि से लूट कर स्विस बैंक में जमा कराई गई है| जिसका एक ताजा उदाहरण 172000 करोड़ रुपये का ताजा तरीन “ स्पेक्ट्रम घोटाला” है|